डॉक्टर्स डे पर विजय सरदाना के विचार:-सदैव पाॅजिटिव सोचें और विश्वास रखें

0
31

डॉक्टर्स डे पर विजय सरदाना(प्रिंसिपल न्यू मेडिकल कॉलेज) से विशेष मुलाकात में उन्होंने डॉक्टर्स के बारे में अपने विचार रहे उन्होंने बताया की चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विज्ञान में नित नवीन जांच तकनीक एवं चिकित्सालय सुविधाओं के विस्तार और दूर- दराज ठेठ गांव -देहात में सहज और सरल उपलब्धता के बावजूद डॉक्‍‍‍‍टर के प्रति आमजन का विश्वास और सम्मान कहीं घटता प्रतीत होने लगा है।

मरीज की डॉक्‍‍‍‍टर के प्रति नजर और डॉक्‍‍‍‍टर का मरीज के प्रति नजरिया लगता है कुछ बदल सा गया है। समाज में डॉक्‍‍‍‍टर को मिलने वाला सम्मान और उसे दिए जाने वाले भगवान का दर्जा अब कहीं धुंधलाने लगा हैं जैसे जैसे लोगों में चिकित्सा ज्ञान – विज्ञान की समझ बढ़ने लगी है उन्हें कभी डॉक्‍‍‍‍टर में व्यापारी तो डॉक्‍‍‍‍टर को मरीज में ग्राहक दिखाई देने लगा है। जबकि सच और सच्चाई यही है कि हर पीड़ा का कोई कारण है और हर पीड़ित के लिए ईश्वर का दिया कोई निदान है। पीड़ित मानव हित में हमें तो बस एक सकंल्प करना चाहिए कि वह रोग से लड़ाई में डॉक्‍‍‍‍टर को अकेला ना छोड़े बल्कि रोग से लड़ने के लिए टीम भावना रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here