अलीगढ़ कांड: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं, सोशल पर गलत बयानबाजी करके अफवाह फैलाई जा रही है

0
90

अलीगढ़। टप्पल कस्बे में बच्ची की ह्त्या मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस का कहना है कि बच्ची के साथ ना तो रेप की पुष्टि हुई और ना ही उस पर कोई केमिकल अटैक हुआ है। लोग सोशल मीडिया पर अफवाहें फैला रहे हैं, जो गलत है। अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुलहरि का कहना है कि सोशल मीडिया पर यह भ्रान्ति फैलाई जा रही है कि बच्ची पर तेज़ाब डाला गया, उसके साथ रेप हुआ और उसकी आंखें निकाल ली गई, लेकिन जो पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई है उसमें किसी भी तरह के केमिकल की पुष्टि नहीं हो रही है। रेप की पुष्टि नहीं हुई है।

कुलहरि ने आगे बताया कि बच्ची की आंख अपनी जगह पर थी। सोशल मीडिया पर गलत बयानबाजी करके अफवाह फैलाई जा रही है। हम इस मामले में गंभीर हैं और दो आरोपियों को अभी जेल भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि बच्ची के पिता और आरोपियों के बीच पैसों के लेनदेन को लेकर झगड़ा था। बच्ची के पिता ने 40 हजार रुपये आरोपियों से उधार लिए थे। जिसमें से वो 35 हजार रुपये लौटा चुके थे। बचे 5 हजार रुपये को लेकर उनके बीच झगड़ा था। आरोप है कि बदला लेने के लिए बच्ची की हत्या की गई। अब तक दो आरोपी इस मामले में गिरफ्तार हुए हैं।

अभी आरोपी जाहिद की पत्नी और भाई फरार हैं। पुलिस इस मामले में गंभीर है और रासुका के तहत कार्यवाही करेगी।लापरवाही पर तत्कालीन टप्पल थानाध्यक्ष, हल्का इंचार्ज सहित पांच लोगों को निलंबित कर दिया है। पुलिस की तरफ से कोई लापरवाही हुई है तो उसकी जांच पुलिस अधीक्षक अपराध को सौंप दी गई है। फिलहाल अलीगढ पुलिस के ट्विटर हैंडल पर भी सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों को लेकर ट्वीट किया गया है।

अलीगढ़ केस सामने आने के बाद लोगों का सोशल मीडिया पर गुस्सा फूट रहा है। नेताओं से लेकर बॉलीवुड स्टार्स अलीगढ़ में बच्ची के साथ हुई बर्बरता पर तरह-तरह की बातें फैला रहे हैं, जो गलत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here