कोटा: वृद्ध दम्पत्ती के घर में घुस कर जानलेवा हमले का आरोपी राजवीर यादव जयपुर से गिरफ्तार

0
264

दीपेश गुबरानी@कोटा। वृद्ध दम्पत्ती के घर में घुस कर जानलेवा हमले का आरोपी राजवीर यादव को पुुुुलिस नेे गिरफ्तार किया। आरोपी कमरा किराये पर लेने के बहाने से घर मे घुसा ओर बुजुर्ग दंपति ओर सफाईकर्मी पर हमला कर फरार हो गया था। पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने बताया कि दिनांक 11-05-19 को महावीर नगर विस्तार योजना में ओमप्रकाश भट्ट व उनकी धर्मपत्नि श्रीमति सुशीला भट्ट व प्रकरण के फरियादी जगदीश चन्द्र लोधा पर कमरा किराये पर लेने आये एक युवक ने जानलेवा हमला कर गम्भीर रुप से घायल कर फरार हो गया था।

प्रकरण की गम्भीरता को देखकर पुलिस अधीक्षक व अन्य अधिकारियों द्वारा तुरन्त घटनास्थल का निरीक्षण किया गया। महानिरीक्षक पुलिस कोटा रेन्ज के निर्देशानुसार एसपी दीपक भार्गव और एएसपी राजेश कुमार मील के नेतृत्व में डीएसपी डॉ. अमृता दुहन, आरपीएस महावीर प्रसाद शर्मा एवं चार थानों के थानाधिकारी महेश सिंह, मुनिन्द्र सिंह, विजय शंकर शर्मा, प्रमेन्द्र रावत सहित अन्य पुलिसकर्मिंयो को मिलाकर थाना महावीर नगर पर उक्त घटना पर दर्ज प्रकरण संख्या 243/19 में अज्ञात आरोपी की तलाश हेतु टीम का गठन किया गया।

अभियुक्त की तलाश एंव गिरफ्तारी हेतु विभिन्न स्थानों पर कई पुलिस टीम रवाना की गई थी जो लगातार सुचना एकत्रित कर प्रकरण के वाछित मुलजिम राजवीर यादव का पीछा कर रही थी । कोटा शहर की सभी सिग्मा व चेतक द्वारा मुलजिम को कोटा शहर में सघन रुप से तलाश किया। मुलजिम राजवीर एक शातिर प्रवृति का व्यक्ति है जो बार-बार अपने ठिकाने बदल रहा था। पुलिस टीम द्वारा उसके सभी संभावित ठिकानों पर नजर रखी जा रही थी । अभियुक्त के पूर्व परिचित लोगों से सम्पर्क किया जाकर ठिकानों का पता लगाया गया।

बस्सी जयपुर में भी इसके पूर्व परिचित मित्र होने का पता चलने पर सादा वस्त्रों में पुलिस टीम निगरानी हेतु लगाई गई वहां पर मुलजिम के आने पर बस्सी पुलिस के सहयोग से अथक प्रयास कर आज दिनाकं 17-05-19 को आरोपी राजवीर यादव को बस्सी जिला जयपुर से डिटेन कर कोटा लाया गया। जिससे विस्तृत पूछताछ के बाद जुर्म स्वीकार करने पर उसे बापर्दा गिरफ्तार किया गया।

आरोप से प्रकरण के सम्बन्ध में विस्तृत अनुसंधान किया जा रहा है। अभियुक्त पूर्व में रह रहे किरायेदारों के पास एक-दो बार घटना से पूर्व आया हुआ था जिससे उसको आसपास की भौगोलिक व मकान में निवासरत व्यक्तियों की जानकारी थी तथा घटना से एक दिन पूर्व अभियुक्त किरायेदार बनकर ओमप्रकाश भट्ट के मकान पर आया व उस दिन वार्ता कर कमरा देखकर अगले दिन आने की कहकर चला गया। तथा अगले दिन सुबह पहुंचकर घटना को अंजाम दिया।

गठीत टीमः-विजय शंकर शर्मा थानाधिकारी उघोग नगर, महेश सिंह पुनि थाना महावीर नगर, मुनीन्द्र सिंह पु.नि. थाना विज्ञाननगर, प्रमेन्द्र रावत थानाधिकारी जवाहर नगर, रामस्वरुप उनि, सतवीर सउनि, देवेन्द्र हैका, कमलेश कानि., रघुनाथ कानि., कैलाश कानि., महेन्द्र सिंह कानि., व कोटा शहर पुलिस के 125 से अधिक जवान साईबर टीम कोटा शहर:- प्रताप सिंह हैका., राकेश शर्मा कानि., सुरेश कानि., इन्द्र सिंह कानि., अशोक सिंह कानि., सुनिल कानि., श्यामवीर कानि., लक्ष्मण सिंह कानि., शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here