रमज़ान माह: रोजा-नमाज और उपवास ऐसे करता है ये परिवार, देखे ये वीडियो !

0
161

@MHR। रमज़ान या रमदान (उर्दू – अरबी – फ़ारसी : इस्लामी कैलेण्डर का नवां महीना है। मुस्लिम समुदाय इस महीने को परम पवित्र मानता है। इस मास की विशेषताएं : महीने भर के रोज़े (उपवास) रखना, रात में तरावीह की नमाज़ पढना, क़ुरान तिलावत (पारायण) करना, एतेकाफ़ बैठना, यानी गांव और लोगों की अभ्युन्नती व कल्याण के लिये अल्लाह से दुआ (प्रार्थना) करते हुवे मौन व्रत रखना, ज़कात देना, दान धर्म करना, अल्लाह का शुक्र अदा करना। अल्लाह का शुक्र अदा करते हुवे इस महीने के गुज़रने के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद उल-फ़ित्र मनाते हैं। इत्यादी को प्रमुख माना जाता है।

कुल मिलाकार पुण्य कार्य करने को प्राधान्यता दी जाती है। इसी लिये इस मास को नेकियों और इबादतों का महीना यानी पुण्य और उपासना का मास माना जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here