तीन बार दिल्ली की CM रहीं कांग्रेस की कद्दावर नेता शीला दीक्षित का 81 वर्ष की उम्र में निधन

0
99

MHR@दिल्ली। द‍िल्‍ली कांग्रेस की अध्‍यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार रविवार को दोपहर 2:30 निगम बोध घाट पर होगा। उनके पार्थिव शरीर को एम्बुलेंस से निजामुद्दीन स्थित उनके आवास पर ले जाया गया। यहां उन्हें श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा है। इस दौरान पीएम मोदी, सोनिया गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत तमाम नेता उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचें। उनके बेटे संदीप दीक्षित ने कहा कि उन्हें उनकी मां की हमेशा याद आएगी। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें दिल्ली के विकास के लिए हमेशा याद रखा जाएगा।

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शीला दीक्षित के निधन पर संवेदना जाहिर की है। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, अभी अभी श्रीमती शीला दीक्षित जी के निधन के बारे में पता चला। यह दिल्ली के लिए बहुत बड़ी क्षति है और उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। उनके परिवार के सदस्यों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। उनकी आत्मा को शांति मिले।

शीला दीक्षित की मौत के बाद अब दिल्ली की राजनीति में उनकी भरपाई करना मुश्किल है। ये उनके अंदर नेतृत्व करने की क्षमता का ही कमाल था कि वो लगातार तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। उन्होंने दिल्ली में विकास के इतने काम किए जिसे आज तक लोग याद करते हैं। राजनीति के जानकारों का कहना है कि शीला दीक्षित जैसा नेता अब दिल्ली को मिलना मुश्किल है। वो कांग्रेस के समर्थकों को ऊर्जा देने का भी काम करती थी।

दिल्ली में कांग्रेस के कम ही ऐसे नेता है जो सर्वमान्य है। इनमें सबसे ऊपर शीला दीक्षित का नाम आता था। जिसकी वजह से वो यहां तीन बार सीएम रह सकीं। शीला दीक्षित के बाद एक दूसरा नाम कृष्णा तीरथ का आता था मगर वो बीजेपी में शामिल हो गई उसके बाद अब उनके मुकाबले दूसरा कोई बड़ा नेता नहीं है। कांग्रेस पार्टी में दो और नाम हारुन युसुफ और अजय माकन का भी है मगर फिर भी इनका मुकाबला शीला दीक्षित से नहीं किया जा सकता है।

उनकी मौत के बाद से एकबारगी तो पार्टी से जुड़े लोगों को यकीन ही नहीं हो पा रहा है। वो अपने-अपने संपर्क से इन सूचनाओं की पुष्टि करने में लगे रहे। दिल्ली सरकार ने उनके निधन पर दो दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। साथ ही राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार करने का फैसला किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here