झुंझुनू: टेलर के दोनों बेटे एक साथ बने आईएएस

0
216

झुंझुनू: जिले के मोदी रोड पर स्थित मकान अब तक तो दर्जी सुभाष कुमावत के घर के नाम से जाना जाता था, मगर 5 अप्रेल 2019 के बाद से यह आईएएस अफसर के घर के नाम से भी जाना जाएगा। आईएएस भी एक नहीं बल्कि दो-दो और वो भी दोनों सगे भाई। झुंझुनूं निवासी सुभाष कुमावत व राजेश्वरी देवी के बड़े पंकज कुमाव ने 443वीं और छोटे बेटे अमित कुमावत ने 600वीं रैंक हासिल की है। दोनों बेटों के एक साथ आईएएस बनने की सूचना पर इनके घर बधाई देने वालों का तांता लग गया और इस दम्पती की आंखों से खुशी के आंसू बह निकले|

करते हैं सिलाई का काम- सुभाष कुमावत सिलाई का करते हैं। इनकी झुंझुनूं में गुढ़ा मोड़ पर दुकान है। वहीं राजेश्वरी देवी तुरपाई का काम करती है। इनके तीन बेटे व एक बेटी है। इनमें से दो बेटे एक साथ आईएएस बन गए हैं। खास बात यह है कि सुभाष के परिवार में सरकारी नौकरी लगने वाले ये दोनों भाई पहले शख्स हैं।  पंकज कुमावत ने बताया कि उसने आईआईटी दिल्ली से मैकेनिकल में बीटेक किया और फिर नोएडा की एक निजी कम्पनी में नौकरी मिल गई। इसके बाद छोटे भाई अमित को भी अपने पास बुलाया लिया। उसे भी ​आईआईटी दिल्ली से बीटेक करवाया। फिर दोनों भाई भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाने की तैयारी में जुट गए और नतीजा आज हम सबके सामने है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here