ऑक्सीजोन कोटा: आरएसी बटालियन की मुहिम से पांच सौ बीघा पर जमीन पर छाई हरियाली

0
91

सुनिल सैनी@कोटा। पर्यावरण व प्रकृति से प्रेम करने वाले अगर नजर डाले तो आप जानेगें की पहले की स्थिति में आज प्राकृतिक संतुलन लुप्त होता चला जा रहा हैं। वर्तमान में हो रही अंधाधुंध पेड़ों की कटाई तथा बढ़ रहा पर्यावरण प्रदूषण जो एक चिंता का विषय हैं।

कोटा शहर के दक्षिण क्षेत्र में यह स्थिति और भी विकट हैं। क्योंकि यहां पास ही स्थित कोटा थर्मल से लगातार धुंआ निकलता रहता हैं तथा इधर जमीन काफी पथरीली व पठारी है। इस कारण से इस क्षेत्र में वृक्षों को विकसित होने में काफी समस्या आती हैं तथा पेड़ पौधों की मात्रा भी काफी कम हैं। वहीं आरएसी ग्राउंड, आरएसी बटालियन परिसर के भी यही हालात थे क्योंकि यहां जगह तो काफी है लेकिन पेड़ पौधों के विकास होने में काफी समस्या थी।

ऐसी चिंताजनक स्थिति को भांपते हुए द्वितीय आरएसी कोटा के कमांडेंट राहुल कोटोकी आईपीएस द्वारा बटालियन परिसर में साल 2017 से अब तक एक मुहिम छेड़ी गई जिसमें अधिक से अधिक मात्रा में वृक्षारोपण कराकर आरएसी परिसर को हरा-भरा करने का निश्चय लिया था। राहुल कोटोकी द्वारा इस हेतु जवानों को लगातार प्रेरित किया तथा हाथ से हाथ मिलाकर कार्य करवाया तथा परिसर में अधिक से अधिक मिट्टी, खाद व पथरीली जमीन में गड्ढे बनवा कर वृक्षारोपण अभियान चलाए गए तथा लगातार उनकी देखभाल एवं उनकी सेवा की जा रही हैं।

ऑक्सीजोन के रूप में विकसित आरएसी कमाटेंड हाउस व क्षेत्र

जिसका परिणाम यह हुआ है कि अब द्वितीय बटालियन आरएसी परिसर का काफी हिस्सा हरा-भरा एवं यहां पर हजारों पेड़-पौधे विकसित हो चुके हैं एवं हजारों पेड़ विकासशील हैं जिनके संरक्षण हेतु आरएसी के जवान लगातार पेड़ों की सेवा कर रहे हैं तथा काफी हद तक पेड़ पौधे बढ़ चुके हैं।

अब आने वाले कुछ ही बाद आरएसी ग्राउंड परिसर में एक बहुत बड़े ऑक्सीजोन क्षेत्र के रूप में विकसित होने वाला है। बटालियन के कमांडेंट एवं जवानों द्वारा प्रारंभ की गई इस मुहिम से फायदा यह हुआ है कि आज बटालियन परिसर के लगभग क्षेत्र जो किसी समय बिल्कुल खाली पड़ा था आज वहां पर पेड़ पौधे विकसित हो चुके हैं।

RAC बटालियन का प्राकृतिक नजरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here